Infertility is a major problem for women’s in North India – Dr Shivani Sachdev Gour


Important news for all women’s those are suffering from infertility issue, watch ivf experts discussion about Infertility is a major problem for women’s.

Dr Shivani Sachdev Gour - Infertility Problem

Dr Shivani Sachdev Gour - Infertility Problem

Dr Shivani Sachdev Gour

Dr Shivani Sachdev Gour reviews

Dr Shivani Sachdev Gour events
Infertility is a major problem for women’s in North India – Dr Shivani Sachdev Gour. Read full in Hindi- सभी महिलाओं के लिए यह खबर बहुत जरुरी, देखें लाईव वीडियो और शेयर भी करें ! करनाल फैडरेशन ऑफ ऑब्स्टेट्रिक्स एंड गायनोकोलाॅजी सोसाइटी ऑफ इंडिया (एफओजीएसआई) करनाल शाखा और अमृतधारा अस्पताल की ओर से होटल नूर महल में (पीसीओएस) बांझपन विषय पर सम्मेलन का आयोजन किया ! इसमें दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, महाराष्ट्र, राजस्थान और यूपी से डॉक्टर शामिल हुए !

करनाल के नूर महल में हुए इस सम्मेलन में महिलाओं में बांझपन की समस्या और उसके निवारण पर विचार सांझा किए गए ! सम्मेलन की आयोजक अमृतधारा हॉस्पिटल से डाॅ. ज्योति गुप्ता ने कहा कि पहले सिर्फ 10 प्रतिशत महिलाओंं में यह समस्या होती थी, लेकिन अब 30 से 40 प्रतिशत महिलाओं में पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि रोग सामने रहा है !

यहां तक कि 13 वर्ष की उम्र की किशोर लड़कियों पीसीओएस की समस्या से ग्रस्त हो रही हैं, उन्होंने कहा कि इस समस्या के चलते अंडे ठीक से नहीं बनते और मच्योर नहीं होते हैं ! इसके कई कारण है, जिनमें जेनेटिक, एनवायरमेंट और एंजाइम की कमी तथा जंक फूड का अधिक सेवन और एक्सरसाइज का करना है !

उत्तर भारत की महिलाओं में एक बड़ी समस्या
ईएसएआर दिल्ली की सचिव डॉ. शिवानी सचदेव गौर ने कहा कि बांझपन विशेष रूप से उत्तर भारत में महिलाओं की एक बड़ी समस्या है, यह हार्मोनल पैटर्न में परिवर्तन होता है, जो महिलाओं में अधिक पुरुष हार्मोन / एंड्रॉन्स के साथ बदलता है ! इस स्थिति का इलाज करना मुश्किल है, महिलाओं को ठोड़ी और होंठों से ऊपर बाल होते हैं, मुंहासे, बालों का झड़ना और मधुमेह और उच्च कोलेस्ट्रॉल मिलता है !

इस समस्या से निपटने के उपाए
इस समस्या से निपटने का सबसे अच्छा तरीका वजन घटाना है मेटाफॉर्मिन जैसी एंटीबायोटिक दवाएं और इनोसिटोलॉज जैसी दवाएं मदद कर सकती हैं ,गोनाडोट्रोपिन जैसी इंजेक्शन बांझपन की महिलाओं की मदद कर सकती हैं ! गर्भवती होने के लिए कुछ महिलाओं को आईवीएफ या टेस्ट ट्यूब बेबी उपचार की आवश्यकता होती है, अनियमित जीवनशैली और अत्यधिक जंक फूड पीसीओ बीमारी को पैदा करने में एक कारण बनता है, इसलिए आहार और जीवन शैली में बदलाव जरूरी है !

सम्मेलन में इनकी रही विशेष उपस्थिति
सम्मेलन में मुख्य रूप से डॉ. आभा मजूमदार गंगा राम अस्पताल, पुणे से डॉ. भारती डोरे पाटिल, डॉ ज्योति मलिक सचिव हरियाणा राज्य ईएसएआर, आज़ामगढ़ से डॉ. सीम पांडे, कोटा से डॉ अरशी इकबाल मेरठ के डॉ. अंशु जिंदल डॉ सुनील जिंदल आदि उपस्थित रहे! Source

Comments